Sunday, January 27, 2013

घणा मस्त रह्या करै मेरा छोरा

भाईयो इबे इब की ताजा कविता सै यो छोरा घणा अल्बाधी अर् लाडला सै

संदीप कंवल भुरटाना

मेरे बेटा का सै गजब का टोरा
घणा मस्त रह्या करै मेरा छोरा

और धोरे जांदी ए यो अरड़ाण लागजा सै
रो रो के नै सबके कान खाण लागजा सै
काला नहीं सै, यो सै कसूता गौरा
घणा मस्त रह्या करै मेरा छोरा

खाण-पीण के मामले म्हं घणा हिट सै
देई म्हं भी बाप की तरिया पूरी फीट सै
मुक्का मार के करदे धरती म्हं मोरा
घणा मस्त रह्या करै मेरा छोरा

नाचदी हाथ यो हाथ नै झाड़या करै
दस का नोट फंसदी ए पाड़या करै
टोक नहीं लागै गलै म्हं बाधै काला डोरा
घणा मस्त रह्या करै मेरा छोरा

पतली बात लिखे संदीप नहीं लिखे मोटी
भुरटाणे म्हं तारे यार सै गजब की कोठी
म्हारे कुणबे खातर सै यो चंदन का पोरा
घणा मस्त रह्या करै मेरा छोरा

जब जेल तै बाहर तारा बाप होगा

संदीप कंवल भुरटाना

इस सरकार का सूपडा साफ होगा
जब जेल तै बाहर तारा बाप होगा

धोखे तै जिसने भी फंसाया जनसेवक
डन बाप-बेटा का भी ईनाम खास होगा

ताम् सारे कूणां म्हं बड़-बड़ रोवोगे
जद तारा प्रस्ताव म्हारी कोर्ट म्हं पास होगा

बस एक साल की बात रहगी सै इब
तारा हर फैसला फेर बकवास होगा

अगला सीएम भी इनेलो का ए बणना सै
फेर कां्रगेस का हाथ नहीं म्हारा थाप होगा

जेल म्हं चिट्ठी भेजी सै किसान पुत्र नै
उसके हर एक शब्द पै तारा नाश होगा

कह संदीप भुरटाणे आला साच्ची बात रै
हर घास का नाम कांग्रेस घास होगा

Monday, January 14, 2013

नाश जाइयो उनका जिन्नै करा सै गैंगरेप

संदीप कंवल भुरटाना




नाश जाइयो उनका जिन्नै करा सै गैंगरेप

कोए जाणै भी सै यो काम होया क्यूं सै।।



रात नै फिल्म देखणी के जरूरी थी यारो

... बिना काम उन्नै यो झगड़ा झोया क्यूं सै।।



घणा बड़ा जुल्म करा सै जालिमां नै छोरी गैल

इलाज करदी हाण डाक्टर भी रोया क्यूं सैं।।



दिल्ली म्हं जाकै कट्ठे होरे सै लोग-लुगाई

हराम खोरा नै बीज बिघन का बोया क्यूं सै।।



फांसी नहीं होनी चाहिए इन काले मुंह आलां की

तड़फा के मारो सालां नै, पूंछै यो लोया क्यूं सै।।



पश्चिमी संस्कृति का झटका देखण लागरे सां हाम